Find the latest bookmaker offers available across all uk gambling sites www.bets.zone Read the reviews and compare sites to quickly discover the perfect account for you.
Home / Cancer Treatment / नींम कैंसर में औषधि रूप Neem Kills Cancer Cells in Hindi

नींम कैंसर में औषधि रूप Neem Kills Cancer Cells in Hindi

neem-kills-cancer-cells-in-hindi

NEEM  POTENTIAL AGENTS FOR CANCER PREVENTION

Azadirachta Indica, Neem Kills Cancer Cells / नींम जिस नीम नारायण भी कहा जाता है। आर्युवेद में नीम विभिन्न बीमारियों जैसे दांत रोग, त्वचा रोग, पेट पाचन विकार आदि सैकड़ों रोगों को मिटाने के लिए प्राचीन काल से ही नीम पत्तियां, बीज, फूल, फल, छाल उपयोग किया जा रहा है। नींम से कई तरह के साबुन, क्रीम, लोशन, सिरप, कैप्सूलस और सौन्दर्य प्रसाधन तैयार करने में इस्तेमाल किया जाता है।
शोध अनुसार नींम में खास तौर पर Nimbolide और Azadirachtin कैंसर नाशक गुण मौजूद है। जोकि ब्रेस्ट कैंसर, त्वचा कैंसर, ब्लडकैंसर, ब्रेन ट्यूमर, अन्य तरह हर तरह के कैंसर को नष्ट करने में सहायक है।
नींम एक इम्यून सिस्टम मजबूत बनाता है। और कैंसर सेल्स को धीरे-धीरे जड़ से मिटाने में खास सहायक है। जिसे Apoptosis प्रक्रिया भी कहा जाता है। नींम मृत और संक्रमित कैंसर कोशिकाओं को दोबारा से सक्रीय करता है। नींम में पाये जाने वाले बीटा कैरोटीन, कैमफैरल, विटामिन सी, क्यूरसेटिन, अजाडिरोन, डेक्सोनिमबोलाइड, निमबोलाइड तत्व कैंसर कोशिकाओं को नष्ट कर नई कोशिकाओं का निमार्ण करते है। नींम एक तरह से बाॅडी में Programmed Cell Death (Apoptosis) प्रोसेस होता है। नींम एक तरह से उत्तम एंटीआॅक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, एंटीसेफ्टिक स्रोत है। और नींम के काई खास साईड इफेक्टस नहीं होते हैं।

नींम कैंसर ग्रसित व्यक्ति के लिए घरेलू औषधि उपयोग / Uses of Neem, Home Remedies to Prevent Cancer

नींम के ताजे बीज धोकर धूप में अच्छे से सुखायें। सूखी नींम बीज के बाहरी हिस्से का फंक बनाकर कांच की शीषी में रख लें।

1. रोज सुबह खाली पेट और रात्रि सोने से पहले चुटकीभर पाउडर गुनगुने पानी के साथ लें।

2. ताजी 2-3 नींम पत्तियां रोज चबाकर खायें।

3. कोमल नींम पत्तियों का रस कच्ची हल्दी की बूंदों के साथ गुनगुने पानी में मिला कर पीयें। 2-3 घण्टे बाद कुछ खाये पीयें।

4. बाहरी त्वचा पर कैंसर संक्रमण होने पर नींम ताजी पत्तियों का रस और कच्ची हल्दी रस मिलाकर लगायें।

5. हरी नींम पत्तियों के उबले पानी से नहायें।

6. नींम डंठल से दांतुन करें।

7. नींम तेल से ग्रसित अंगों और शरीर पर मसाज करें।

8. शरीर अंग संडन, सूजन, घाव संक्रमण होने पर कच्ची हल्दी, नींम रस और शहद मिश्रण कर लगायें।

9. घाव, फोड़ा फुंसी साफ सफाई में उबली नींम पत्तियों का पानी इस्तेमाल करें।

10. नींम तेल से मालिश करें।

नींम कैंसर रोकथाम में खास आर्युवेदिक औषधि मानी जाती है। Cancer Patient को नींम अवश्य इस्तेमाल करना चाहिए।

neem kills cancer cells, neem for breast cancer, neem ovarian cancer, neem for skin cancer, neem for prostate, neem anticancer, Neem Cancer Treatment, neem cure cancer in hindi, neem leaves for cancer, Neem Fight Cancer 

About About Writer

हैलो फ्रैंड्स ❤ मेरा नाम भारत सिंह है। मैं स्वास्थ्यज्ञान बेवसाइट का लेखक हूँ। मेरी विशेष रूचि साइंटिफिक आर्युवेदा पद्धति, स्वास्थ्य, सौन्दर्य, जीवन शैली और दैनिक - दिनचर्य जैसे विषयों का विश्लेषण एवं समीक्षा कर ज्ञानवर्धक लेख लिखने में है। मेरा मुख्य उदेश्य स्वास्थ्यज्ञान बेवसाइट के माध्यम से पाठकों के ज्ञान में बढ़ोत्तरी और ज्ञान जागृत कराना है। ❤

Check Also

कैंसर निवारण अमृत औषधि Cancer Cure Amrit Aushadhi in Hindi

Cancer Remedy, Drink / हर तरह के कैंसर को तेजी से सुधार लाने में गेहूं ...

कैंसर रोधक तांबें बर्तन का पानी Copper Vessel Water for Cancer Cure in hindi

Copper Vessel Water /तांबे बर्तन का पानी पीने से कैंसर क्योर करने में सक्षम पाया ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisment ad adsense adlogger