Recent

शुगर ग्रसित व्यक्ति के अचूक औषधि Medicinal Juice for Diabetes in Hindi

शुगर ग्रसित व्यक्ति के अचूक औषधि / MEDICINAL JUICE FOR DIABETES

Juice for Diabetes, Diabetic Juice / शुगर पीड़ित व्यक्ति यह खास औषधि आधा कप सुबह बिना कुछ खायें और रात को खाने से 1 घण्टे पहले सेवन करने से शुगर हमेशा नियत्रंण में रहता है। लगातार रस का सेवन करने से डायबिटीज मात्र 15-20 दिनों में नियंत्रण करने में सक्षम है। और शुरूआती डायबिटीज जड़ से मिटाने में यह खास अचूक आर्युवेदिक औषधि पेय सक्षम है।medicinal-juice-for-diabetes-in-hindi, Diabetic-Juice-Hindi
डायबिटीज रोकथाम में खास औषधि पेय / Juice Recipes for Diabetics Patient in Hindi, Juice for Diabetic Person

शुगर निजात दवा सामग्री / Diabetic Control Juice, Ingredients
  • 100 ग्राम करेला / Bitter Gourd 
  • 1 चम्मच कलौंजी तेल / Nigella Sativa Oil 
  • 200 ग्राम हरा खीरा / Cucumber 
  • 20 ग्राम टमाटर / Tomatoes 
  • 10 ग्राम जामुन गुठली पाउडर / Blackberry Seed Powder 
  • 5 ग्राम अदरक पिसा हुआ / Ginger 
  • काला नमक स्वाद के अनुसार / Black Salt


औषधि तैयार करने की विधि / Diabetic Juice Recipes
करेला, अदरक, कलौंजी तेल, टमाटर, जामुन गुठली पाउडर, खीरा सामग्री को मिक्सी से पीसें, पतला होने पर छान लें। स्वाद के अनुसार काला नमक मिला लें।

औषधि सेवन एंव फायदे / Diabetic Juice Benefits
रोज सुबह खाली पेट आधा कप रस पीने से शुगर तुरन्त नियत्रंण में आ जाता है। शुगर लेवन बढ़ने पर पीड़ित व्यक्ति के लिए यह औषधि प्राकृतिक इन्सुलिन का काम करती है। औषधि पीने के 1 घण्टे बाद ही कुछ खायें पीयें। शुरूआती डायबिटीज जड़ से मिटाने में यह खास अचूक आर्युवेदिक पेय सक्षम है। नित्य मंडूकासन योगा, व्यायाम, सैर जरूर करें। खूब पसीना बहायें।

निष्कर्ष : डायबिटीज में पसीना बहान अति फायदेमंद है। पसीना बहाने से दूषित विषाक्त पसीने के माध्यम त्वचा रोमछिद्र से बाहर निकल आते हैं। जिससे शर्करा लेवल नियंत्रण में रहता है। डायबिटीज में सही खान पान परहेज जरूरी है। खान-पान में लारवाही से शर्करा लेवल अनियंत्रित हो जाता है। और व्यक्ति की जान पर बन आती है। बहुत से व्यक्ति शुगर बीमारी लक्षण होने पर खानपान एवं सावधानियों को ध्यान में रखकर स्वस्थ्य रहते हैं। और शुगर होने पर भी लम्बी आयु तक स्वस्थ जीवन यापन करते हैं। शुगर गम्भीर बीमारी नहीं है। परन्तु सही डाईट सावधानियां नहीं बरर्ते तो व्यक्ति की हालत गम्भीर हो सकती है। डायबिटीज के दुष्प्रभाव से किड़नी डेमेज, घुटनों की समस्या, गठिया, लीवर आदि सम्बन्धित समस्याएं हो सकती हैं।

Previous
Next Post »