सेतुबंधासन कमर दर्द तुरन्त दूर करें Setu Bandhasana in Hindi

सेतुबंधासन कमर दर्द तुरन्त दूर करें / YOGA POSES BRIDGE POSE SETU BANDHASANA, FOR PACKPAIN, SETU BANDHASANA YOGA STEPS BENEFITS

Bridge Pose, Setu Bandhasana / सेतुबंधासन खास कर कमर दर्द, बैक पेन दूर करने में सक्षम है। सेतुबंधासन महिलाओं और पुरूषों के फायदेमंद है। Back Pain Relief Yoga Exercise / सेतुबंधासन कमर दर्द के साथ साथ थाइराईड, Spine Pain Relief / रीढ़ हड्डी दर्द, शरीर दर्द समस्याओं दूर करने में सहायक है।

सेतुबंधासन करने से फायदे / Setu Bandhasana Benefits in Hindi

1. कमर दर्द से तुरन्त छुटकारा पाने के लिए सेतुबंधासन अहम हैं। सेतुबंधासन सुबह उठकर करें तो ज्यादा फायदा होता है।

2. रीढ़ की हड्डी मेरूदण को दुरूस्त और फिट रखने में सेतुबंधासन सक्षम है।

3. सेतुबंधासन कमर दर्द के साथ साथ गर्दन दर्द, मांसपेशियों के विकारों आसानी से मिटाने में अहम है।

4. जिन लोगों को लम्बे समय से बैक पेन, कमर दर्द की समस्या हैं, उनके लिए सेतुबंधासन अति फायदेमंद है।

5. सेतुबंधासन को स्वस्थ व्यक्ति भी सुबह शाम दोनो वक्त कर सकता है। सेतुबंधासन करने से मांसपेशियों में लचीलापन और फुर्ती बनी रहती है। नसों के खिचाव दूर करने में सेतुबंधासन सक्षम है।


सेतुबंधासन करने का तरीका / Setu Bandhasana (Bridge Pose) Steps

1. समतल जगह पर चटाई विछा लें। फिर पीठ के बल सीधे लेट जायें।

2. फिर दोनों पैरों के घुटनों को 90 डिग्री तक मोडें।

3. अब दोनों हाथों की हथेली से दोनों पैरों की ऐडि़यों का पकड़े।

4. फिर सांस रोककर छाती बक्ष को ऊपर की तरफ लें जायें। फिर सांस धीरे धीरे छोड़े। 2 मिनट तक 90 डिग्री में शरीर को स्थिर रखें। बाद दुबारा से समतल पुनः साधरण लेटी स्थिति में आ जायें। इसी तरह से 4-5 बार सेतुबंधासन करें।

नोट: सेतुबंधासन बच्चों के लिए वर्जित है, सेतुबंधासन केवल युवा और बुजुर्ग ही करें। सेतुबंधासन प्रातकाल बिना कुछ खाये पीये ही करें। सर्जरी और घातक रोग में सेतुबंधासन न करें।

Setu Bandhasana in Hindi

Previous
Next Post »