Home / Female Problems Solutions / मासिक धर्म और धात रोग का आर्युवेदिक ईलाज Home Treatment for Fertilization Anatomy in Hindi

मासिक धर्म और धात रोग का आर्युवेदिक ईलाज Home Treatment for Fertilization Anatomy in Hindi

मासिक धर्म और धात रोग का आर्युवेदिक ईलाज / HOME TREATMENT FOR FERTILIZATION ANATOMY IN HINDI / FERTILIZATION ANATOMY/ DHATU ROG KA ILAJ

स्त्रियों में मासिक धर्म महावरी का होना प्राकृतिक है। मासिक धर्म के दौरान होने वाली पीड़ा दर्द / Menstrual Cramps  में शीशम की पत्तियों का 1-2 चम्मच रस सुबह शाम सेवन करने से दर्द से तुरन्त आराम मिलता है। शीशम मासिक धर्म में फायदेमंद है।

home-treatment-for-fertilization-anatomy-in-hindi

 

धात रोग, वीर्य रोग दूर करें शीशम / Premature Ejeculation
शीशम की हरी 10-12 पत्तियां, 1 चम्मच शक्कर के साथ मिलाकर बारीक पीस लें। महिलाओं में अनियमित वीर्य आना समस्या को दूर करने में शीशम सक्षम है। लम्बे से समय से धातु वीर्य रोग होने पर शीशम के बीज और पत्तियों दोनों बारीक पीसकर को मिलाकर एक कप दूध में 1 चम्मच मिलाकर छानकर पीने से धात वीर्य रोग से जल्दी आराम मिलता है।

धातरोग में शिलाजीत और अश्वगंधा / Shilajit, Ashwagandha
धातु रोग – वीर्य का अचानक आने पर शिलाजीत और अश्वगंधा बराबर मात्रा यानि कि लगभग 1 चम्मच के बाराबर मिश्रण सेवन करने से धातुरोग-वीर्य निकासन समस्या से जल्दी छुटकारा मिलता है।

कच्चे पपीता शीशम धात रोग में / Raw Papaya, Rosewood
धात रोग होने पर कच्चा पपीता मिक्सी कर एक कप रस में एक चम्मच शीशम पत्तों का रस, आधा चम्मच गाय का घी मिलाकर सेवन करने से वीर्यपतन धात रोग से छुटकारा मिलता है।

सफेद मसूली पाउडर धात रोग में / Safed Musli
आधा चम्मच मसूली पाउडर को एक गिलास शुद्ध दूध के साथ सुबह शाम सेवन करने से घात रोग 10-15 दिनों में ठीक हो जाता है

आर्युवेदिक मसाले धात रोग में / Ayurvedic Spices
छाटी इलाइची, बंशलोचन, शतावरी, मुलहठी, को बारीक पीसकर आधा चम्मच शक्कर मिलाकर 1 गिलास दूध के साथ मिलाकर सेवन करने से धात रोग शीघ्र ठीक हो जाता है।

About About Writer

हैलो फ्रैंड्स ❤ स्वास्थ्यज्ञान डाॅट काॅम का प्रयास पाठकों के लिए स्वास्थ्य, साइंटिफिक आर्युवेदा पद्धति, जीवन शैली, सौन्दर्य और दैनिक - दिनचर्य जैसे विषयों का विश्लेषण एवं समीक्षा कर ज्ञानवर्धक लेख लिखने में है। स्वास्थ्यज्ञान बेवसाइट मुख्य उदेश्य विभिन्न लेखों के माध्यम से पाठकों के ज्ञान में बढ़ोत्तरी और ज्ञान जागृत कराना मात्र है। ❤