Hemoglobin / हीमोग्लोबिन कैसे बढ़ायें Anemia Treatment in Hindi

हीमोग्लोबिन कैसे बढ़ायें /ANEMIA TREATMENT IN HINDI / INCREASE HEMOGLOBIN QUICKLY, ANEMIA SYMPTOMS TREATMENT 

Aplastic Anemia Treatment in Hindi : शरीर में Hemoglobin रक्त की कमी होने की समस्या आजकल तेजी से बढ़ रही है। बच्चे - बडे सभी में खून की कमी पाया जाना एक चुनौती सा बन गया है। Anemia / बच्चों और महिलाओं में रक्त की कमी ज्यादा पाई जाती है। बच्चे जंकफूड, फास्ट फूड खाना ज्यादा पसंद करते हैं। और महिलाओं में पीरियड के दौरान खून बहने से खून की कमी ज्यादा दर्ज की गई है। शरीर में दो तरह के रक्त सफेद और लाल रक्त कण मौजूद हैं। हीमोग्लोबिन (Red Blood Cells) की कमी यानि कि रिच प्रोटीन, फोलिक एसिड, विटामिन-12, विटामिन-सी, और आयरन जिसे हीम की कमी भी कहा जाता है। हीमोग्लोबिन एक तरह में रक्त कणिकाओं में ऑक्सीजन हीम प्रक्रिया है। शरीर की रक्त कमी को हरी पत्तेदार सब्जियों, फल, सलाद, फल रस, मेवा ड्राईफूडस, हर्बलस और रिच अनाज पौषक तत्वों से आसानी से पूरा किया जा सकता है। आर्युवेद तरीकों से Hemoglobin / हीमोग्लोबिन हीम आयरन और लाल रक्त कणों प्लेट्स को असानी से पूर्ण कर शरीर को पहले जैसा तंदुरूस्त और ऊर्जावान बनाया जा सकती है। Foods increase blood aid की जानकारी निम्न प्रकार से है।

Anemia-treatment-in-hindi, Increase-Hemoglobin-Hindi
 हीमोग्लोबिन कैसे बढ़ायें / शरीर से रक्त कमी दूर करने के सटीक तरीके / Ayurvedic treatment for Anemia in Hindi

हरी पत्तेदार सब्जियां / Vegetables good for Anemia
शरीर में रक्त की कमी होने पर रोज पालक, सरसों, राई, चैलाई, बातू इत्यादि पत्तेदार सब्जी सुबह शाम लगातार 25-30 दिनों तक खाने से रक्त की कमी आसानी से पूर्ण हो जाती है। हरी पत्तेदार सब्जी आयरन, प्रोटीन विटामिनस और मिनरलस से भरपूर है। हर व्यक्ति को पत्तेदार हरी सब्जियों खाने चाहिए। जिससे शरीर में रक्त की कमी नहीं होती है। सभी हरी सब्जियां रक्त बढ़ाने में सहायक है। परन्तु हरी पत्तेदार सब्जियां रिच विटामिनस और मिनरलस स्रोत है।

नींबू - पुदीना - टमाटर / Lemon, Mint, Tomatoes
नींबू रस, टमाटर रस, पुदीन रस पाचन तंत्र / Digestive System को दुरूस्त और सुचारू करने के साथ-साथ रक्त बनाने में सहायक हैं। खाने से 5 मिनट पहले 1 गिलास नींबू पुदीन रस में सेंधा नमक मिश्रण कर पीना फायदेमंद हैं। नींबू रस, टमाटर रस, पुदीन रस तेजी से Increase Hemoglobin का अच्छा स्रोत है।

अनार और गाजर / Carrot, Pomegranate, Best juice for Anemia
शरीर में रक्त की कमी होने पर रोज गाजर और अनार का मिक्स जूस पीने से रक्त की कमी तेजी से पूरी करने में सक्षम है। गाजर और अनार का मिश्रण रस खून की कमी के साथ-साथ नजर कमजोर समस्या ठीक करने में सहायक है।

सलाद / Anemia Diet Plan
रक्त की कमी दूर करने के लिए रोज खाने में सलाद सेवन करें। सलाद में प्याज, शलगम, गाजर, खीरा, टमाटर, ककड़ी विटामिनस और मिनरलस का रिच स्रोत है। सलाद में आधा नींबू निचैड कर और सेंधा नमक मिला कर सेवन करना ज्यादा फायदेमंद है।

पौष्टिक मेवा ड्राईफूडस / Nutrition for Anemia Patients
रक्त की कमी तेजी से दूर करने में ड्राईफूडस मेवा सक्षम है। जैसे बादाम, अखरोट, किशमिश, मंगूफली, खजूर, काजू इत्यादि दूध के साथ खाने से हिमोग्लोबिन तेजी से बढ़ता है।

दुग्ध खाद्यपदार्थ /Dairy products, good foods for Anemia
दूध, पनीर, मक्खन, चीज, घी, सोया खाद्यपदार्थ खाने से रक्त की कमी तेजी से पूर्ति करने में सहायक है। डायरी खाद्यपदार्थ प्रोटीन विटामिनस और मिनरलस का रिच स्रोत है।

फल / Fruits for Anemia
रक्त की कमी दूर करने में फलों और फलों का रस खास फायदेमंद है। जैसेकि सेब, अंगूर, आम, अमरूद, अनार, तरबूज, गाजर, स्ट्रॉबेरी, अमरूद, संतरा, खरबूज, पपीता, कच्चा नारियल पानी इत्यादि सक्षम है।

सब्जियां / Vegetarian food for Anemia
शरीर में रक्त की कमी दूर करने में हरी सब्जियों में शिमलामिर्च, चुकंदर, सेम, शक्करकंद, ब्रोकली, लौकी, कद्दू, टमाटर, राजमा, बीन्स, हरी धनिया, पत्ता गोभी, पत्तेदार सब्जियां रक्त बढ़ाने में सहायक है।

अंकुरित अनाज बीज / Sprouts seeds, increase blood
अनाज बीज को पानी में भिगो कर अंकुरित होने पर खाना सम्पूर्ण पौष्टिकता एक साथ प्राप्त करने के बराबर है। हरे गेहूं की बालियों के कच्चे गेहूं दूध वाले दानों को आग में भून कर गुड़ के साथ सेवन करने से तेजी से शरीर की खून की कमी दूर करने में सक्षम है। इसी तरह से कच्चे दूध वाले गेहूं, चने, फली, अन्य अनाज को गुड़/शहद के साथ सेवन करना फायदेमंद है।

एनीमिया, रक्त की कमी दूर करने में आयरन, फॉलिक एसिड, विटामिन बी-12, विटामिन-सी, कैरोटीन, प्रोटीन इत्यादि जैसे रिच पौषक तत्वों वाले खाद्य पदार्थों का सेवन सहायक है। पौष्टिक संतुलित आहार निरोग स्वास्थ्य जीवन शैली की पहचान है।
Previous
Next Post »