Home / Nuskhe / दिमाग स्मरण शक्ति बढ़ायें Boost Brain Power in Hindi

दिमाग स्मरण शक्ति बढ़ायें Boost Brain Power in Hindi

दिमाग स्मरण शक्ति बढ़ायें / BOOST BRAIN POWER IN HINDI

Healthy Brain Tips : मनुष्य का Brain / ब्रेन प्राकृति कुदरत की अमूल्य विचित्र रहस्यमई सुपर पावर में से है। शोध में पाया गया है कि मनुष्य केवल लगभग 5.6 प्रतिशत तक ही मस्तिष्क इस्तेमाल करता है। अगर मनुष्य 8-9 प्रतिशत तक मस्तिष्क इस्तेमाल कर ले तो दुनिया की कोई भी पहेली असम्भव नहीं है। Mind को Perfect Active रखने के लिए सही खान पान, योगा, मेडिटेशन, एरोबिक एक्सराइज, साकारात्मक सोच, पूरी नींद, आई स्ट्रेन, दांतों-मसूड़ों को अल्जाइमर रोग दूर रखना, तनाव मुक्त रहना जरूरी है। मस्तिष्क एक तरह से लर्निंग मशीन की तरह है। भाषा सुनने, समझने, सीखने की जानकारी ब्रेन कोशिकाओं में इक्कत्रित Store करता है। दिमाग शरीर को कार्य करने के लिए Instructions देता है। Brain शरीर में होने वाली हर घटनाओं को सेकन्ड के 16वें से कम भाग में कैप्चर कर लेता है।

boost-brain-power-in-hindi

स्मरण शक्ति कैसे बढ़ायें / Boost Brain in Hindi

ध्यान योगा मुद्रा / Yoga Meditation Posture

Brain Yoga / ध्यान आसन मुद्रा करने के लिए सुबह प्रातःकाल और शाम सूर्य अस्त के बाद का वक्त मस्तिष्क को ज्यादा सक्रीय करने में अच्छा रहता है। योगा-आसन-ध्यान स्मरण शक्ति आंखे बन्द कर शांत योग मुद्रा में 10 मिनट बैंठे। योगा आसन में बैठकर लम्बी-लम्बी सांस नांके के द्वारा लेने और मुंह से सांस छोड़ने से मस्तिक तनाव मुक्त रहता है। दूसरे तरीका खडे होकर दोनों हाथ फैला लें। सिर छोड़ा ऊपर उठाकर हल्की लम्बी सांस लें और सांस छोडें। ये दोनो तरीके काफी हद तक मस्तिष्क को तनाव मुक्त करने में सक्षम हैं। और तनाव मुक्त रहने के लिए एरोबिक एक्सराइज भी एक अच्छा माध्यम है। तनाव मुक्त रहने पर स्मरण शक्ति आसानी से बूस्ट होती है।

स्मरण प्रक्रिया / Mind Revision

Learning Power / भूलने की परेशानी दूर करने के लिए रोज सुबह शाम पुरानी लर्निंग, बातों, घटनाक्रम को दुबारा स्मरण याद करें। स्मरण शक्ति बढ़ाने का यह अच्छा तरीका है। Revision प्रक्रिया याददाश्त तेज करने का उत्तम माध्यम है।

अल्जाइमर रोग / Alzheimer’s Disease

दांतों-मसूड़ों को अल्जाइमर रोग दूर रखना जरूरी है। दांतों मसूड़ों में अल्जाइमर होने से मस्तिष्क स्मरण शक्ति कमजोर होती है। जिसे डिमंेशिया कहा जाता है। ऊपरी जबड़े के दांतों का जोड नसें आंख एवं मस्तिष्क से होता है। दांतों का स्वस्थ मजबूत रोगमुक्त होने से स्मरण शक्ति को बढ़ावा मिलता है।

मस्तिष्क संयम शान्ति सोच-विचार / Brain Peace

Calming Your Anxious Mind / किसी भी बात, विचार, क्रिया-कलाप, असमजस्य, गुस्से में मस्तिष्क को शांत रखना जरूरी है। उदाहरण: अगर कोई जानबूझ कर ऐसी बात बोले जिससे व्यक्ति तुरन्त क्रोधित होता हो। ऐसे में दिमाग इस्तेमाल कर जबाव आसानी से सटीक दिया जा सकता है। दिमाग को किसी का टीवी रिमोट कन्ट्रोल न बनने दें। जब कोई बेकार बात बोलकर गुस्सा दिलाये और जब अच्छी बात बोलकर खुशी दिलाये। दिमाग असंतुलन में क्रॉनिक तनाव से हिप्पोकैन्पस ग्रस्त हो सकता है। जोकि दिमाग की खास नाजुक प्रक्रिया होती है। बेकार-अनावश्यक के तनाव से दूर रहने से स्मरण शक्ति तीब्र होती है।

गीत – संगीत मनोरंजन / Music Entertainment

Stress Free Music / मस्तिष्क को स्वस्थ सुचारू रखने के लिए संगीत अच्छा माध्यम है। दिमाग में तनाव महसूस करने पर गाने सुने, टीवी देखें, गाने गाऐं या गनुगुनाऐं, कॉमडी चुटकले फन मनोरंजन पर ध्यान दें। संगीत मनोरंजन दिमाग को तुरन्त आराम और चिन्तामुक्त करने में सक्षम है। संगीत मनोरंजन मस्तिष्क कोशिकाओं एंव वहिकाओं को स्वस्थ और स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है। स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए दिमाग चिंतामुक्त-तनाव मुक्त होना जरूरी है। स्वस्थ दिमाग के लिए संगीत मनोरंजन एक अच्छा माध्यम है।

मेलजोल-बात विचार / Gathering Point

Rapprochement, Friendship / दिमाग में तनाव परेशानी में समस्या को अपने परिवार, दोस्तों में शेयर करें। दिमाग में अतरिक्त जोर ना डालें। मेलजोल बात विचार से हर समस्या का सुलझना सम्भव है। अकेला ना रहें, अपने आसपास एक फ्रेंडली महौल बनायें। समस्या शेयर करने से दिमाग हल्का और फ्रेस महसूस होता है। साथ में कोई खास क्रिएटिव सोल्यूशन निकल आता है। ज्यादा दिनों तक तनाव में रहने से मस्तिष्क विकार और भी घातक हो सकता है।Brain को Tension Free रखना जरूरी है।

सकारात्मक सोच / Positive Thinking

Stay Positive / दिमाग को नेगेटिविटी सोच से बचायें। बिना देखे, बिना विचार, बिना समझ से कोई बात ना बोलें और किसी समस्या का सोल्यूशन खुद नेगेटिव सोच से नहीं निकाले। हमेशा साकारात्मक सोच रखें। पोजिटिव माइड़ पोजिटिव सोल्यूशन निकालने में सक्षम है। सकारात्मक सोच स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

दिमाग को स्वस्थ्य रखे रिच विटामिनस मिनरलस / Vitamins Minerals

Brain Diet / फ्री रैडिकस न्यूट्रिलाइज वाले खाद्यपदार्थ खाना मस्तिष्क स्मरण शक्ति बढ़ाने का अच्छा माध्यम है। एन्टीऑक्सीडेन्ट, एन्टीबायोटिक, प्रोटीन, वसा, विटामिनस मिनरलस ओमेगा कम्पलैक्स, वाली चीजें फायदेमंद होती हैं। संतुलित आहार ब्रेन को दुरूस्त करने में सक्षम हैं।

दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए कुछ आर्युवेदिक घरेलू तरीके / Ayurvedic Tips for Healthy Brain

1.  अखरोट और किशमिश को बराबर मात्रा में मिश्रण कर खाने से दिमाग की स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

2.  4-5 बादाम को मक्खन, शर्कर के साथ खाने से दिमाग स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

3.  सप्ताह में 2-3 बार शुद्ध घी से सिर मसाज मालिश करें।

4.  गाजर का हलवा खाने से नींद अच्छी आती है। जिससे दिमाग तनाव मुक्त और सुचारू रहता है। पूरी अच्छी नींद मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में सक्षम है।

5.  आंवले खाने से दिमाग तनावमुक्त रहता है। आंवले खाना और आंवले की चटनी मुरब्बा स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

6.  1 गिलास दूध में 1 चम्मच सौंफ पाउडर घोलकर लगातर पीने से मस्तिष्क स्मरण शक्ति बढ़ाने में सक्षम है।

7.  मुनक्का दूध के साथ सेवन करने से स्मरण बढ़ाती है।

8.  शहद को दालचीनी के साथ खाने से दिमाग विकार मिटते हैं। दिमाग को स्वस्थ रखने में शहद दालचीनी खाना फायदेमंद है, जिससे स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

9.  गुलाकन्द और काली मिर्च मिश्रण दूध के साथ सेवन करने से स्मरण शक्ति बढ़ने में सहायक है।

10.  हरे कोमल गेहूं के पौधों का रस शक्कर के साथ सेवन करने से मस्तिष्क विकार दूर होते हैं और स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

11.  सुबह अंजीर दूध के साथ खाने से दिमाग चुस्त एवं स्मरण शक्ति बढ़ाने में सहायक है।

12.  आम, सेब, अमरूद फल दिमाग की स्मरण शक्ति तेज करने में सहायक है।

About About Writer

हैलो फ्रैंड्स ❤ स्वास्थ्यज्ञान डाॅट काॅम का प्रयास पाठकों के लिए स्वास्थ्य, साइंटिफिक आर्युवेदा पद्धति, जीवन शैली, सौन्दर्य और दैनिक - दिनचर्य जैसे विषयों का विश्लेषण एवं समीक्षा कर ज्ञानवर्धक लेख लिखने में है। स्वास्थ्यज्ञान बेवसाइट मुख्य उदेश्य विभिन्न लेखों के माध्यम से पाठकों के ज्ञान में बढ़ोत्तरी और ज्ञान जागृत कराना मात्र है। ❤