देशी घी के फायदे Desi Ghee Benefits in Hindi

देशी घी के फायदे / DESI GHEE BENEFITS IN HINDI

Cow Ghee / Desi Ghee in Hindi / सबका मनपसंद देशी घी पौष्टिक तत्वों और औषधीय गुणों से भरपूर है। शुद्ध गाय घी दिया जलाने, हवन, पूजा, वायु शुद्धिकरण धार्मिक कार्यों से लेकर खाना स्वादिष्ठ, पकवान पौष्टिक बनाने और शरीर को हष्टपुष्ट, ऊर्जावान, निरोग स्वस्थ बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। शुद्ध घी किसी औषधि से कम नहीं है। Healthy Ghee / देशी घी में प्रोटीन विटामिन ए, विटामिन डी, प्रोटीन, पोटैशियम, सैचुरेटेड फैट, मोनोसैचुरेटेड फैट, मोनोसैचुरेटेड फैट, पॉलीअनसेचुरेटेड, ट्रांस वसा, पॉलीअनसेचुरेटेड वसा, ओमेगा 3, फैटी एसिड, ओमेगा 6, फैटी एसिड, ओमेगा 9 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में मौजूद हैं। गाय घी सेवन पाचन, मस्तिष्क, हड्डियों को दुरूस्त, मजबूत और शरीर ऊर्जावान, बलवान, सदाबहार जवान बनाये रखने का उत्तम माध्यम है। इसी लिए शुद्ध गाय घी की Healthy Ghee की संज्ञा दी गई है।
Desi-Ghee-Benefits-in-hindi, Desi-Ghee-Hindi


पौष्टिक स्वादिष्ट देशी घी / Benefits of Desi Ghee in Hindi

पौष्टिक गाय घी / Healthy Cow Ghee
बच्चे, युवा, बुजुर्ग सभी के लिए गाय का घी पौष्टिकता से भरपूर है। रोज Cow Ghee / देशी घी रोटी, दाल, सब्जी, चावल आदि में अवश्य खाना चाहिए। देशी घी शरीर को ऊर्जावान और रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सक्षम है।

जोड़ों के दर्द, त्वचा विकार दूर करे देशी घी / Desi Ghee, Good for Joint Pain
गाय घी मालिश त्वचा के मृत कोशिकाओं को पुन जीवित करने और त्वचा से विषाक्त कण निकालने में सहायक है। जोड़ों दर्द, शरीर दर्द में देशी घी में लहसुन पकाकर Ghee Massage करना खास सहायक है।

नजर विकार दूर करे देशी घी / Cow Ghee, Good for Eyes
नजर कमजोर, आंखों में दर्द, जलन होने पर रोज देशी सेवन फायदेमंद है। 1 चम्मच देशी घी में 1-2 काली मिर्च दाना पाउडर मिलाकर सेवन करें। 10-15 मिनट बाद 1 गिलास दूध पीयें।

त्वचा विकार मिटाये देशी घी / Desi Ghee for Skin
देशी घी त्वचा संक्रामण, दाद, खाज, पेट जलन, दर्द ठीक करने में सक्षम है। देशी घी में कन्जुगेटेड लाईनोलीन अम्ल होता है। देशी घी सेवन त्वचा सक्रामण के साथ वजन नियत्रंण करने में सहायक है। प्राचीनकाल में देशी घी लेप त्वचा विकारों और पेट विकारों को ठीक करने में खूब इस्तेमाल किया जाता था।

एंटीआॅक्सीडेंट देशी घी / Rich Antioxidants
गाय घी में रिच एंटीआॅक्सीडेंट गुण मौजूद है। नित्य गाय घी सेवन रोगप्रतिरोधक सक्षम बढ़ाने का उत्तम श्रोत है।

स्त्रियों के खास फायदेमंद देशी घी / Desi Ghee Nutrition
महिला श्वेत प्रदर / Leukorrhea समस्या में रोज गाय घी को चने, मिश्री के साथ सेवन करना फायदेमंद है। प्रसव उपरांत / After Pregnancy गाय घी से पंजीरी सेवन तेजी से शरीर में रक्त कमी पूरी करने और शरीर को ऊर्जावान, ताकतवर बनाने में खास सहायक है। गाय घी सेवन एक तरह से रोगप्रतिरोधक क्षमता / Immunity System बढ़ाने का अचूक श्रोत है। प्रेगनेंसी के दौरान देशी घी सेवन बच्चे मां दोनों के लिए फायदेमंद है।

कैंसर रोधक देशी घी / Ghee Good for Cancer
गाय के घी में कैंसररोधी गुण मौजूद हैं। माऊथ कैंसर, स्तन कैंसर और आंतों के कैंसर को रोकने में खास सहायक है।

अंदुरूनी कमजोरी दूर करे गाय घी / Boost Libido
गाय घी और अखरोट मिश्रण सेवन नपुंसकता कमजोरी दूर करने में खास सहायक है। रोज 1 गिलास गुनगने दूध में 1 चम्मच देशी घी मिलाकर अखरोट के साथ सेवन करने से वीर्य शुक्राणु वृद्धि करने में सहायक है।

गैस कब्ज में खास दवा / Milk with Ghee at Night
गैस, कब्ज, पाचन क्रिया बिगड़ने पर गर्म दूध में गाय घी मिलाकर सोने से पहले पीने से पेट सम्बन्धित समस्त विकार एक साथ ठीक करने में सहायक है। खाना बनाने में तेल, घी की जगह शुद्ध गाय का घी इस्तेमाल करना फायदेमंद है।

बच्चों के खास गाय घी टोनिक और औषधि / Appetite Stimulant
बच्चों को हष्टपुष्ट बलवान बनाने में देशी घी खास सहायक है। और सर्दी जुकाम लगने पर देशी घी में लहसुन पकाकर गले, छाती, पीठ पर मालिश करने से कफ जमने से जल्दी छुटकारा दिलाने में सहायक है। और गाय घी सेवन बच्चों की यादाश्त बढ़ाने में सक्षम है।

फटी त्वचा कोमल सुन्दर बनाये गाय घी / Good for, Cracked Skin
चेहरे त्वचा पर देशी घी से मालिश करना फायदेमंद है। देशी घी फटे होठों, फटी त्वचा, एड़ियों को कोमल सुन्दर बनाने में खास सक्षम है।

हिचकी तुरन्त बंद करे देशी घी / Stop Hiccups
हिचकी बंद ना होने पर गर्म पानी में आधा चम्मच देशी घी मिलाकर पीने से हिचकी तुरन्त बंद करने में सहायक है। और गाय घी चीनी के साथ खाने से भी हिचकी बंद हो जाती है।

कोमा मरीज के गाय घी औषधि / Coma Patient, Remedy
लम्बे समय से कोमा मरीज के लिए गाय घी यादाश्त लाने में सहायक है। गाय घी 2-3 बूदें गुनगुना कर नांक में डालें। धीरे-धीरे याददाश्त वापस लाने में सक्षम है।


नशा रोधक गाय घी / Intoxication Cure
शराब, मादक पदार्थों का घातक नशा उतारने के लिए 5-6 चम्मच गाय घी में 1 चम्मच चीनी तवे में भून कर घी के साथ अच्छे से मिलाकर नशा रोगी को पिलाने से नशा शीघ्र उतारने में सहायक है। गुड़, चीनी, मीठे से परहेज करें।

सरदर्द, नांक एलर्जी दूर करे देशी घी / Desi Ghee Reduce to Allergy

Migraine Pain, Allergy / माइग्रेन दर्द, एर्जी से छुटकारे के लिए रोज गाय घी की मालिश फायदेमंद है। और 1-2 बूदें गाय घी गनुगुना कर नाक में डालने से जल्दी निजात दिलाने में सहायक है।

मुंह छाले ठीक करे गाय घी / Mouth Ulcers Remedy
मुंह में छाले पड़ने पर गाय घी और मिश्री सेवन छाले और जलन से शीघ्र आराम दिलाने में सहायक है।

फैट घटाने गाय घी / Weight Loss, Ghee
कई लोग गाय घी सेवन को मोटापा बढ़ाने में सहायक समझते हैं। शुद्ध गाय घी वजन मोटापा शरीर में चर्बी नहीं बढ़ाता है। है। गाय घी वजन, मोटापा, शरीर पर चबी जमने से बचाने में सहायक है।

बालों के लिए खास गाय घी / Desi Ghee for Hair
सप्ताह में 1-2 बार गाय घी से बालों पर मसाज करना फायदेमंद है। देशी घी बालों को जड़ से पोषण और मजबूती देने और बालों को नेचुरली काला चमकदार बनाने में खास सहायक है।

नांक बंद में खास देशी घी / Cow Ghee for Blocked Nose
सर्दी जुकाम से नांक बंद रहने पर घी गर्म कर सूंघना और लाल मिर्च को गाय घी में डुबों जलाकर धुआं सूखने से शीध्र नांक छिद्र ब्लोकेज ठीक करने में सहायक है। और छींक मारने से सम्पूर्ण शरीर ऊर्जा मात्र 2-3 सेकेंड में पुन सक्रीय वृद्धि सुचारू / Refresh हो जाती है। छींक आने को अंधविश्वास ना समझें।

देशी घी इस्तेमाल में सावधानियां / Desi Ghee ke Nuksan / Desi Ghee Side Effects

  •  पीलिया, फैटी लिवर, हेपेटाइटिस विकारों में घी सेवन से बचें।
  •  अधिक मात्रा में देशी खाने से अपचन, दस्त, पेट दर्द समस्या हो सकती है।
  •  एक बार केवल 5 ग्राम यानि एक चम्मच तक ही देशी घी सेवन करें।
  •  सर्दी, जुकाम, खांसी में देशी घी सेवन से बचें।
Previous
Next Post »