Home / Stay Healthy / सोने के नियम Sleeping Habits in Hindi

सोने के नियम Sleeping Habits in Hindi

सोने के नियम / GOOD SLEEPING TIPS & SLEEPING HABITS IN HINDI

TIPS FOR BETTER SLEEP / BEST WAY TO SLEEP / SLEEPING HABITS
Sleeping Tips : समय पर खान-पान, सोना, जागना स्वस्थ शरीर और अच्छे जीवन शैली की पहचान है। स्वस्थ शरीर के लिए पर्याप्त नींद जरूरी है। परन्तु अधिकत्तर लोग 6-7 घण्टे सोने के बावजूद भी पूर्ण नींद नहीं ले पाते हैं, और सोने के बाद उठने पर कमर दर्द, हाथ दर्द, गर्दन दर्द, पेट दर्द, हाथ दबना, बाजू दर्द, शरीर में झंझनाहट आदि तरह की समस्याओं के बारे में जिक्र करते हैं। ये सारी समस्याएं गलत तरह से सोने, गलत बिस्तर चयन और कर्वटें बदलने की वजह से होती हैं। लगातार गलत तरीके से साने और आरामदायक बिस्तर, टाईट कपड़े पहनने से विभिन्न शरीरिक समस्याएं बीमारी रूप में बदल जाती हैं। कई बाद नींद नहीं आने पर लोग नींद दवाईयां सेवन करने लगते हैं। जिसके विभिन्न दुषप्रभाव होने लगते हैं।
स्वस्थ निरोग दीर्घायु रहने के लिए पर्याप्त नींद भी जरूरी है।

sleeping habits in Hindi, achi neend kaise le, neend aane ka upay, नींद आने के उपाय

सोने के नियम और अच्छी नींद लेने के सटीक तरीके / How to Sleep Better / Sleeping Tips & Tricks / Better Sleeping Habits

आरामदायक पहनावा / Night Dress for Sleep
सोने से पहले ढ़ीले आरामदायक कपड़े पहने। सोते समय टाईट – तंग कपड़े पहने रहने से भी नींद नहीं आती है। अच्छी नींद लेने के लिए आरामदायक ढ़ीले कपड़े पहना जरूरी है। सोते समय तंग पहनावा भी विभिन्न शरीरिक समस्याओं का एक मुख्य कारण बनता है।

सोने से पहने पानी पीना / Drinking Water
सोने से 5 मिनट पहले 1 गिलास सादा पानी पीयें। सोने से पहले पानी पीने से नींद अच्छी आती है। पाचन तंत्र दुरूस्त और मस्तिक स्वस्थ रहता है। पानी पीने के बहुत से फायदे हैं।

तनाव रहने पर नहाना / Night Shower
तनाव में रहने की समस्या से नींद नहीं आने पर सादे पानी से नहायें। नहाने से शरीर मांसपेशियों मस्तिष्क को आराम मिलता है। और शरीर में अतिरिक्त आॅक्सीन ऊर्जा का निमार्ण होता है, और अच्छी नींद आती है। अगर नहाना नहीं है, तो सोने से पहले ठंड़े पानी से मुंह और पैर धायें। मुंह पैर धोने से काफी हद तक शरीरिक थकावट कम हो जाती है।

तनाव – फिक्र होकर सोना / Relax & Sleep
बिस्तऱ में पड़ने पर शांत मन से सोये। किसी तरह की उलझन, फ्रिक, क्रोध आने वाली बातों को याद नहीं करें। शांत होकर लेटें। शांति से सोने पर जल्दी और अच्छी नींद आती है।

बिस्तर चयन / Sleeping Bed
बिस्तर साफ सुथरा रखें। हमेशा विस्तार झाड़कर सोयें। कठोर गद्दा, खुर्दरी चादर कम्बल, रजाई, तकिया आदि इस्तेमाल नहीं करें। साफ्ट – मुलायम बिस्तर, तकिया लें। और अधिक ऊंचा तकिया इस्तेमाल नहीं करें। कठोर बिस्तर और तकिया भी गर्दन दर्द – कमर दर्द और अन्य तरह की विभिन्न शरीरिक समस्याओं का कारण बन जाता है। और बिस्तर को कुछ समय अंतराल पर धूप में अवश्य सुखायें। चादर, राजाई, विस्तर, तकिया, कम्बल, गद्दे आदि विस्तर धूप में सुखाने से बिस्तर के अन्दर पनपने वाले कीटाणु जीवाणु नष्ट हो जाते हैं। बिस्तर स्वच्छ रहता है। और नियमित बिस्तर चादरें, कवरें बदलते रहें। और सर्दी मौसम में धूप सेंकें। धूप सेंकने के बहुत से फायदे हैं।

गलत पाॅजिशन में सोना / Sleeping Positions
सोते समय सही पोजिशन में लेटें। गर्दन के नीचें हाथ रख नहीं सायें। या उल्टा, तिरफा लेट कर नहीं सायें। हमेशा पीठ के बल सोयें। गलत स्थिति में सोने से नींद अच्छी सही नहीं आती है। और अगर नींद आ भी गई तो कमर दर्द, गर्दन दर्द, हाथ दर्द, बाजू दर्द, गैस्टिक, अपचन, शरीर में झंझनाहट आदि समस्याएं होने की सम्भावनाएं रहती हैं।

सोने का समय निर्धारण / Healthy Sleep Hours
नियमित सोने का समय एक जैसा रखें। देर रात तक जागने से बचें। रात्रि 10 से 11 बजे के मध्य सोने का नियम बनायें। और सुबह 5 से 6 बजे के मध्य उठने का नियम बनायें। सुबह समय पर उठने से दिनचर्या सही बना रहता है। शोध अनुसार 65 प्रतिशत लोग देर रात से साते हैं, और सुबह देर से जागते हैं, जिससे दिनचर्या कार्यों में बिलम्ब और स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। सुबह समय पर उठकर 45 मिनट सुबह सैर, योगा और व्यायम करें। सोने और उठने का समय भी व्यक्ति के स्वास्थ और जीवन शैली बतलता है।

रात्रि भोजन / What to eat at Night
रात्रि भोजन सीमित मात्रा में खायें। भूख से 20 प्रतिशत कम खायें। रात्रि कम खाने से नींद अच्छी आती है, पाचन तंत्र और मोटापा भी नियंत्रण में रहता है। और रात्रि को तला, भुना और सख्त खाने से बचें।

नाकारात्मक सोच / Negative Thinking
हमेशा सकारात्मक सोच रखें। सकारात्मकता आने से नींद अच्छी आती है, सोते समय बिस्तर पर लेटने पर नेगटिव विचार नहीं आते। Positive Thinking से तनावमुक्त रहने पर ही व्यक्ति चैन की नींद सो सकता है।

पुराने टूथब्रश के इस्तेमाल…more

अधिक चीनी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक…more

सर्दी मौसम में पसीना बहायें…more

About About Writer

हैलो फ्रैंड्स ❤ स्वास्थ्यज्ञान डाॅट काॅम का प्रयास पाठकों के लिए स्वास्थ्य, साइंटिफिक आर्युवेदा पद्धति, जीवन शैली, सौन्दर्य और दैनिक - दिनचर्य जैसे विषयों का विश्लेषण एवं समीक्षा कर ज्ञानवर्धक लेख लिखने में है। स्वास्थ्यज्ञान बेवसाइट मुख्य उदेश्य विभिन्न लेखों के माध्यम से पाठकों के ज्ञान में बढ़ोत्तरी और ज्ञान जागृत कराना मात्र है। ❤