लहसुन मेथी अचार महाऔषधि Garlic Methi Pickled in Hindi

लहसुन और मेथी अचार जान कर आप भी हैरान हो जायेगें / Garlic Methi Pickled Benefits / Lasun Methi Achar ke Fayde
Pickled Garlic / लहसुन और मेथी को आर्युवेद महाऔषधि से जाना जाता है। लहसुन मेथी को प्राचीनकाल से ही अमरत्व रूप माना जाता है। शोध अनुसार परन्तु लहसुन और मेथी का मिक्स अचार सैकड़ों रोगों को जड़ से खत्म करने का उत्तम माध्यम है। लहसुन मेथी अचार स्वादिष्ट होने के साथ स्वास्थ्य के लिए अति लाभकारी औषधि रूप है। मेथी में तेल पड़ने से पौष्टिकता 20 गुना ज्यादा बढ़ जाती है। और लहसुन पड़ने से मेथी दानों के गुण लहसुन के एलिसिन गुण में घुल जाते हैं। जिससे महाऔषधि का संचय होता है।
लहसुन मेथी एंटीसेप्टिक, एंटीआक्सीडेंट, एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल, एंटीफंगल गुणों का स्रोत एक साफ बन जाता है। लहसुन मेथी अचार रोज अवश्य खायें। कई लोग लहसुन गंध की वजह से Garlic Achar और Garlic Chutney नहीं खाते हैं। परन्तु लहसुन एक खास औषधि है।
Garlic-Methi-Pickled-in-Hindi, Garlic-Pickle-Benefits, Lahsun-Achar-ke-Fayde
लहसुन मेथी अचार खाने के अद्भुत फायदे / Garlic Methi Pickle Amazing Benefits in Hindi
लहसुन मेथी अचार थोड़ी-थोड़ी रोज खायें। लहसुन मेथी अचार औषधि की तरह काम करती है।
1.  लहसुन मेथी अचार खाने खराब कोलेस्ट्राॅल को फिलटर करती है। नसों घमनियों में वसा थक्का जमने से रोकती है। और अच्छे कोलेस्ट्राॅल का निर्माण करती है। कोलेस्ट्राॅल मरीज के लिए लहसुन मेथी अचार किसी बरदान से कम नहीं है।
2.  हृदय रोगी के लिए लहसुन मेथी अचार किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है। लहसनु मेथी अचार हार्ट अटैक रिस्क को कम करता है। वहिकाओं को ब्लाॅकेज से बचाती है।
3.  लहसुन मेथी अचार अपचन, फूड पाॅयजन, कब्ज, गैस आदि तरह की पेट सम्बन्धित समस्याओं के खास औषधि रूप है।
4.  रक्त खराबी, फंगल, त्वचा रोग में लहसुन मेथी अचार फायदेमंद है। लहसुन मेथी अचार रक्त साफ करने का उत्तम माध्यम है। रक्त खराब होने से खाज, खुजली, लगातार पिम्पलस, चर्म रोग, एलर्जी, फंगल आदि अन्य तरह के त्वचा रोगों से बचाने में लहसुन मेथी अचार खास फायदेमंद है।
5.  सर्दी, जुकाम, संक्रमण आदि तरह के विषाणुओं कीटाणुओं से शरीर को बचाये रखने में लहसुन मेथी अचार सेवन फायदेमंद है। लहसुन मेथी अचार इम्यून सिस्टम मजबूत बनाता है। और रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करने में सक्षम है।

6.  लहसुन मेथी अचार कैंसर जैसी भंयकर बीमारी से दूर रहने का उत्तम स्रोत है। लहसुन मेथी अचार शरीर से मृत कोशिकाओं को पुनः निमार्ण करता है। और पुरानी कोशिकओं को नये बृहद में बदलती है। जोकि कैंसर कोशिका का पनपने नहीं देती।
7.  फैटी लिवर स्तर को धीरे-धीरे घटाने में लहसुन मेथी अचार खास फायदेमंद है। अकसर अन्हेल्दी खाने - पीने की चीजों जैसे जंकफूड्स, धूम्रपान, शराब, बीयर, तेलीय भोजन, वसायुक्त भोजन आदि तरह की खाद्यसामग्री से लीवर में दूषित तरल पदार्थ जमा होने लगता है। और लीवर की कार्य दक्षता बढ़ने लगती है। फैटी लिवर से बचाने में लहसुन मेथी अचार औषधि रूप है।
8.  गठिया, साइटिका दर्द, जोड़ों के दर्द, झुनझुनाहट, हड्डियों में दर्द और हर तरह के शरीरिक दर्द में लहसुन मेथी अचार रामबाण औषधि की तरह है। लहसुन मेथी अचार गठिया, साइटिका, जोड़ों के दर्द, शरीरिक दर्द, झुनझुनाहट से बचाने में सक्षम है।
9.  डायबिटीज मरीज के लिए लहसुन मेथी अचार खास फायदेमंद है। डायबिटीज से होने वाले दुष्प्रभावों से बचने के लिए नित्य लहसुन मेथी अचार अवश्य खायें। लहसुन मेथी अचार डायबिटीज में प्राकृति इंसुलिन है। और शर्करा लेवल नियंत्रण में रखने का अच्छा स्रोत है।
10.  आंखों में जलन और दूर दृष्टिदोष में लहसुन मेथी अचार फायदेमंद है। मेथी लहसुन अचार में बीटा कैरोटीन की मात्रा भी पाई जाती है।

लहसुन मेथी अचार तैयार करने की विधि / Garlic Methi Pickle Recipe सामग्री / Garlic Pickle Ingredients
  • 1 किलोग्राम छिली हुई लहसुन कलियां
  • 50 ग्राम मेथी दाना (पिसी हुई)
  • 20 ग्राम पिसी राई (पिसी हुई)
  • 20 ग्राम सौंफ (पिसी हुई)
  • 12 ग्राम हल्दी पाउडर
  • 15 ग्राम कलौंजी (पिसी हुई)
  • 1 चम्मच अजवाइन (पिसी हुई)
  • 40 ग्राम नमक या स्वादअनुसार डालें
  • 25 ग्राम मिर्च पाउडर
  • आधा लीेटर सरसों तेल 

लहसुन मेेथी अचार तैयार करने की विधि
स्टेप 1:  छिली लहसुन को साफ पानी में धोकर 2 घण्टे तक धूप में सुखायें।
स्टेप 2:  आधा लीटर तेल कड़ाही डालकर ऊपर से पिसी गई मेथी, कलौंजी, सौंफ, राई और अजवाइन को डालकर हल्की आंच में पकायें। तेल खोलने पर बंद कर दें।
स्टेप 3:  तेल गुनगुना ठंड़ा होने पर लहसुन, नमक, मिर्च, हल्दी डालकर अच्छे से मिलायें। फिर 3-4 घण्टे के लिए ढंक कर रख दें। फिर कांच, या चीनीमिट्टी बर्तन में भरकर 2-3 दिन धूप लगायें। बीच बीच में सुबह अचार को अच्छे से मिक्स करने के लिए हिलाते रहें।
इस तरह से 3-4 दिन में मनपंसद स्वादिष्ट - पौष्टिक लहसुन मेथी अचार तैयार हो जाता है। लहसुन मेथी अचार खास औषधीय गुणों से भरपूर है।
लहसुन मेथी अचार सेवन में सावधानियां / Garlic Methi Pickle Side Effects
1.  गर्मी मौसम में लहसुन मेथी अचार सीमित मात्रा में लें। दिन में 2 बार ही लहसुन मेथी अचार नाश्ते, दोपहर या रात्रि भोजन में लें।
2.  पेट में जलन, गर्भावस्था, बिलीड़िग में लहसुन मेथी अचार सेवन से बचें।
3.   1 बार में 3-4 लहसुन अचार कलियां लें। अधिक मात्रा में लहसुन अचार खाने से पेट गर्मी, पेट दर्द, पेशाब में जलन, उल्टी जैसी समस्याएं हो सकती हैं। लहसुन मेथी अचार हमेशा सीमित मात्रा में खायें।

SUMMARY : GARLIC METHI PICKLED BENEFITS IN HINDI, LASUN METHI ACHAR KE FAYDE, GARLIC AND FENUGREEK PICKLE BENEFITS IN HINDI, LASUN ACHAR REMEDIES IN HINDI, LASUN PICKLED FAYDE, EAT GARLIC PICKLE FOR GOOD HEALTH IN HINDI, SWASTHYA KE LIYE LASUN ACHAR KE FAYADE, GARLIC AND FENUGREEK PICKLE
Previous
Next Post »